आलू की उन्नत किस्में और उनकी विशेषताएं

Curved Arrow
Scribbled Underline
Floral

आज हम आपको आलू की उन्नत किस्में और उनकी विशेषताओं के बारे में बताएँगे तो चलिये शुरू करते हैं

Start the tutorial

Light Yellow Arrow

आलू की यह किस्म 90 से 100 दिन में तैयार हो जाती है। इसकी पैदावार 250 से 300 क्विंटल प्रति हेक्टेयर होती है। यह राजस्थान, मध्य प्रदेश, पंजाब और हरियाणा के लिए उपयुक्त है।

कुफरी संगम

आलू की यह किस्म 70 से 80 दिन में तैयार हो जाती है। इसकी पैदावार 200 से 250 क्विंटल प्रति हेक्टेयर होती है। यह पछेती अंगमारी रोग के प्रति प्रतिरोधी होती है।

कुफरी अलंकार

आलू की यह किस्म 90 से 100 दिन में तैयार हो जाती है। इसकी पैदावार 200 से 250 क्विंटल प्रति हेक्टेयर होती है। यह अगेती झुलसा रोग के प्रति प्रतिरोधी होती है।

कुफरी लालिमा 

यह किस्म 80 से 90 दिनों में तैयार हो जाती है। इसकी पैदावार 200 से 250 क्विंटल प्रति हेक्टेयर होती है। 

कुफरी चंद्रमुखी 

यह किस्म 90 से 100 दिन में तैयार हो जाती है। इसकी पैदावार 300 से 350 क्विंटल प्रति हेक्टेयर होती है। यह उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और बिहार के लिए अधिक उपयुक्त है।

कुफरी 4 

Other Stories

अन्य Web Stories दिखने के लिए Swipe Up करें