Top 5 Seed Sowing : जानिए टॉप 5 बीज बुवाई के तरीके

जानिए टॉप 5 बीज बुवाई के तरीके : जानिए बीज बुवाई करने की 5 तकनीक ये देगी बंपर पैदावार, बहुत से किसान है, आज के समय में बहुत से किसान भाई है जिन्हे बीज बोने की नई नई तकनीकों के बारे में जानना चाहते है तो दोस्तो इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बीज बोने की तकनीकों के बारे मैं जानकारी देंगे, जिससे आपको अच्छी उपज के साथ गुणवत्ता वाली फ़सल प्राप्त हो सके।

टॉप 5 बुवाई के तरीके (Top 5 Methods of Sowing)

1. ब्रॉड कास्टिंग

2. डिब्लिंग

3. प्रत्यारोपण

4. रोपण

5. चौड़ी या लाइन बुवाई

बीज की बुवाई के लिए ब्रॉड कास्टिंग विधि (Broad casting method for sowing seeds)

बीज की बुवाई के लिए ब्रॉड कास्टिंग विधि (Broad casting method for sowing seeds)
बीज की बुवाई के लिए ब्रॉड कास्टिंग विधि (Broad casting method for sowing seeds)

ब्रॉड कास्टिंग विधि (Broadcasting) में तैयार खेत में हाथों से बीजों का बिखराव किया जाता है. इसके बाद मिट्टी के साथ बीज के संपर्क के लिए लकड़ी के तख्ते या हैरो के साथ कवर किया जाता है. इस विधि से गेहूं, धान, तिल, मेथी, धनिया आदि फसलें बोई जाती हैं. यह बीज बुवाई का सबसे तेज़ और सस्ता तरीका माना जाता है.

बीज बुवाई के लिए डिबलिंग विधि (Dibbling method for sowing seeds)
बीज बुवाई के लिए डिबलिंग विधि (Dibbling method for sowing seeds)

डिब्लिंग विधि में दोनों दिशाओं में फसल की आवश्यकता के अनुसार मेकर की सहायता से बीज को खेत में बोया जाता है। यह डिब्बलर द्वारा मैन्युअल रूप से किया जाता है।

किसानों को सोमानी सीडज़ के बीजों से हो रहा है मुनाफा, सब्जियों की बीज की बुआई में किसान कर रहे हैं प्रयोग

मूंगफली, अरंडी, और कपास जैसी फसलों में इस विधि का पालन किया जाता है. इस विधि से पंक्तियों और पौधों के बीच की उचित दूरी बनी रहती है. इस तरीके में बीज की आवश्यकता अन्य विधि से कम होती है.

Transplant method for sowing seeds
बीज की बुवाई के लिए प्रतिरोपण विधि (Transplant method for sowing seeds)

प्रतिरोपण विधि (Transplant) विधि नर्सरी क्यारियों पर पौध उगाना और निर्धारित खेत में पौध की रोपाई का एक तरीका है. इसके लिए नर्सरी क्यारियों पर लगभग 3-5 सप्ताह तक पौध उगाने की अनुमति दी जाती है.

नर्सरी की रोपाई से एक दिन पहले क्यारियों को पानी दिया जाता है ताकि जड़ों को झटका ना लगे. वास्तविक रोपाई से पहले खेत की सिंचाई की जाती है, ताकि पौध जल्दी और जल्दी स्थापित हो जाए. धान, फल, सब्जी, फसल, तंबाकू आदि फसलों में इस विधि का पालन किया जाता है.

Planting method for sowing seeds
बीज बुवाई के लिए रोपण विधि (Planting method for sowing seeds)

इसमें फसलों के वानस्पतिक भाग को रखा जाता है. यह एक तरह की पारंपरिक खेती का तरीका (Traditional farming method) है, जिसे किसान बहुत समय से करते आ रहे हैं. आलू, अदरक, शकरकंद, गन्ना और हल्दी जैसी फसलों के लिए यह विधि उपयुक्त है.

बीज बुवाई के लिए ड्रिलिंग या लाइन विधि (Drilling or Line Method for Sowing Seeds)
बीज बुवाई के लिए ड्रिलिंग या लाइन विधि (Drilling or Line Method for Sowing Seeds)

यह मोघा, सीड ड्रिल, सीड-कम-फर्टी ड्रिलर या मैकेनिकल सीड ड्रिल जैसे उपकरणों की मदद से बीजों को मिट्टी में गिराता है और फिर बीजों को लकड़ी के तख्तों या हैरो से ढक दिया जाता है। इस विधि से ज्वार, गेहूं, बाजरा आदि फसलें बोई जाती हैं। इस विधि में बीजों को उचित और एकसमान गहराई पर रखा जाता है। साथ ही इस विधि में बुवाई उचित नमी स्तर पर की जाती है।

English Summary : Know Top 5 Seed Sowing Methods

FOLLOW ME
मैं नवराज बरुआ, में मुख्य रूप से इंदौर मध्यप्रदेश का निवासी हुं। और में Mandi Market प्लेटफार्म का संस्थापक हूँ। मंडी मार्केट (Kisanguide.com) मूल रूप से मार्केट में चल रही ट्रेंडिंग खबरों को ठीक से समझाने और पाठकों को मंडी ख़बर, खेती किसानी की जानकारी देने के लिए बनाया गया है। पोर्टल पर दी गई जानकारी सार्वजनिक स्रोतों से प्राप्त की गई है।
3b007314ce2dbf44c150a2643ef016ce?s=250&d=mm&r=g
FOLLOW ME

Leave a Reply