You are currently viewing Kiwi Fruit Farming: भारत में कीवी फल की खेती कर कई किसान लाखो रूपए कमा रहे है जाने कैसे ?
kivi fal ki a to z jaankari

Kiwi Fruit Farming: भारत में कीवी फल की खेती कर कई किसान लाखो रूपए कमा रहे है जाने कैसे ?

Kiwi Fruit Farming : नमस्कार किसान साथियों किसान गाइड में आपका सुवागत है आज हम जानेंगे कीवी फल की खेती के बारें मैं कीवी की खेती करने का सही तरीका क्या है और आप इसकी खेती करके कितनी कमाई कर सकते है इसके साथ ही हम जानेंगे है कीवी की खेती किस मौसम में इसकी खेती की जाती हैं कितने समय की फसल होती हैं यहाँ कितनी सिचाईयाँ लगती हैं किस प्रकार की मिट्टी में हम इसे लगा सकते हैं|

इंडिया में कीवी खेती

किसान साथियों वैसे तो कीवी को चीन का फल मन जाता हैं इसलिए इसे चाहे कुछ बेरी भी कहते हैं भारत में कीवी की मांग को देखते हुए उत्तराखंड हिमाचल प्रदेश, केरल उत्तरप्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, जैसे आदि राज्यों में इसकी खेती बहुत ही बड़े स्तर पर हो रही हैं किसान साथियों कमाई के हिसाब से देखा जाएं तो यह फल सेवफल से भी ज्यादा प्रॉफिट देने वाला हैं

भूमि और मौसम

कीवी की खेती खेती के लिए मौसम और भूमि का चुनाव किसान शान साथियों की विकृति के लिए जनवरी का महीना सबसे अच्छा होता हैं कीवी की खेती के लिए ऐसे क्षेत्रों उपयुक्त होते हैं जहा की जलवायु हलकी कुपोषण और हलकी सी रोशन और हलकी सीतोष्ण हो शाल भर में करीब डेढ़ सौ सेंटीमीटर की औसत बारिश होनी चाहिए इसके वह देखो अंकुरित होने के लिए 15 डिग्री के आसपास का तापनाम जरूररी होता है जबकि गर्मियों में तापमान 30 डिग्री से ज्यादा नहीं होना चाहिए कीवी की बागवानी के लिए जल निकासी वाली उपजाऊ बुलाई रेतीली दोमट मिटटी की उचित रहती है जिसका PH मान 5 से 6 के बीच होना चाहिए

किस्मों

कीवी की उन्नत किस्मों के बारे में किसान साथियों वैसे तो कीवी की दुनियाभर में 100 से ज्यादा किस्मे है लेकिन भारत में इसकी में इसकी ऊंची किस्मों को उगाया जाता है जिनमे से मोंटी एलीना एबोट बूरनो यहाँ चार प्रकार की किस्में मुख्यतः भारत में उगाई जाती है जिन्हें कलम या ग्राफ्टिंग में माध्यम से तैयार किया जाता है इन किस्मों के फूल आने के बाद लगभग 180 -190 दिनों में फल पक कर तैयार हो जाता है इसके प्रत्येक पौधे में से लगभग 75 से सुख किलोग्राम तक फल प्राप्त हो सकते है किसान साथियों हमने मिटटी जलवायु, तापमान और किस्में देख लिए है अब बात करते है की कीवी फल की खेती खेत कैसे तैयार किया जाता है| 

खेती की तैयारी

किसान साथियों कीवी की खेती के लिए खेत की 2 से 3 बार अच्छी तरह से जुताई करके खेत को खेत को समतल बना लेना चाहिए कीवी की खेती कतारों में की जाती है इसमें कतारों से कतारों की दुरी 4 मीटर और कतार में पौधे से पौधे की दुरी 5 – 7 मीटर राखी जाती है कतार में एक मीटर चौड़ा और दो फ़ीट गहरा गद्दा करदे इसमें जैविक उर्वरकों की उचित मात्रा मिला कर गद्दा भर दे इसके बाद गहरी सिचाई कर उन्हें तरह से ढक दे किसान साथियों अब हमारा खेत तैयार हो गया है।

पौध रोपाई का समय

कीवी फल की रोपाई खेत में तैयार गड्डो में की जाती है इन गड्डो में नर्सरी में तैयार पौधो को लगा दिया जाता है और पौधे के चारों तरफ में मिटटी डालकर अच्छे से दबा दिया था है पौधे को खेत में दिसम्बर और जनवरी के महीने में लगाया जाता है सिचाई की बात करे तो किसान साथियों कीवी फल की खेती को गर्मियों के मौसम में अन्य फसलों की अपेक्षा जायदा पानी की आवश्यकता होती है इनके पौधोकी पहली सिचाई रोपाई के तुरंत बाद कर देनी चाहिए इसके बाद गर्मियों में मौसम में इसे तीन से पाँच दिनों में सर्दी के मौसम में आठ से दस दिनों में पानी लगाते रहना चाहिए जबकि बारिश के मौसम में जैसे ही पानी की कमी दिखे हमें सिचाई कर देनी चाहिए।

यह भी पढ़े: Mushroom Ki Kheti : मशरूम की खेती कैसे होती हैं जानिए इसकी पूरी प्रोसेस?

खाद और उर्वरकों

किसान साथियों कीवी के फल से अच्छी पैदावार और बेलो की अधिक बढ़ोतरी के लिए इसको खाद की आवश्यकता भी अधिक होती है उर्वरकों की मात्रा इसकी उपजाऊ शक्ति और पैदावार के अनुसार घटाया बढ़ाया जा सकता है कीवी फल के एक पूर्ण विकसित पौधे को 750 से 800 ग्राम नायट्रोजन और 400 से 500 ग्राम फास्फोरस एवं 700 पोटास दो भागो में डाले इसके अलावा सड़ी गली गोबर की खाद जनवरी से फ़रवरी में 50 से  60 किलोग्राम एकबार में डाले |

किट एवं रोग

किसान साथियों कीवी भारत का एक ऐसा फल वाला पौधा है जिसमें कीटों एवं रोगों का कोई गंभीर प्रकोप नहीं देखा गया है कीवी फल में लगने वाली बीमारियां फफूंद और बैक्टेरिया से होती है अतः इसका कृषको को ज्ञात होना आवश्यक है।

पैदावार

किसान साथियों कीवी फल की पैदावार बहुत से कारणों पर निर्भर करती है जैसे जलवायु किस्में परागण खाद उर्वरक आदि फिर भी एक पूर्ण विकशित प्रति बैरल से 75 से 100 किलोग्राम तक फल प्राप्त किये जा सकते है अब हमारे किशन भाइयो के दिमाग में एक सवाल जरूर होगा की कीवी के पौधे पर फल कब आते है और तुड़ाई कब करे कीवी फल के पौधे खेत में लगाने के चार साल बाद फल देना शुरू कर देते है इसके पौधे पर फ़रवरी माह में फूल खिलना शुरू हो जाते है जो अक्टूबर से दिसमंबर माह में पककर तैयार हो जाते है।

फलो की तुड़ाई 

फलो की तुड़ाई किसान साथियों इसके फल अक्टूबर से दिसंबर के बीच पाक जाते है जब दूसरे फल बाजार में काफी काम होते है इसके फूलो फलो को थोड़ा सख्त अवस्था में तोडना चाहिए ताकि उन्हें दूर मंडियों तक भेजा जा सके कीवी फल को आम कमरे में लगभग 25 से 30 दिनों तक एवं शीत भण्डारण (Cold Storage) में डेढ़ से दो महीनो तक आराम से रखा जा सकता है।

लाभ

कीवी फल की खेती से कितना लाभ होगा यहाँ जान लेते है कीवी फल की खेती से किसान भाइयों को अच्छी कमाई हो जाती है क्योकि फलों का बाजार भाव 70 से 150 रूपए प्रति किलो होता है इसके एक पौधे से 80 से 100 किलोग्राम तक फल प्राप्त होते है और एक हेक्टर में 400 से 450 पौधे उगाये जा सकते है जिससे आपको 40 से 50 टन फल प्राप्त होते है इससे आप एक हेक्टर में 15 से 20 लाख कमा सकते हो किसान साथियों आशा करता हु आपको जानकारी अच्छी लगी होगी।

यह भी पढ़े : Moong Ki Kheti : मूंग की खेती कैसे करें?

FOLLOW ME
मैं नवराज बरुआ, में मुख्य रूप से इंदौर मध्यप्रदेश का निवासी हुं। और में Mandi Market प्लेटफार्म का संस्थापक हूँ। मंडी मार्केट (Kisanguide.com) मूल रूप से मार्केट में चल रही ट्रेंडिंग खबरों को ठीक से समझाने और पाठकों को मंडी ख़बर, खेती किसानी की जानकारी देने के लिए बनाया गया है। पोर्टल पर दी गई जानकारी सार्वजनिक स्रोतों से प्राप्त की गई है।
3b007314ce2dbf44c150a2643ef016ce?s=250&d=mm&r=g
FOLLOW ME

Leave a Reply